SHARE

 वो कहते हैं दिल पे भरोसा इतना नहीं करते

हम कहते हैं महोब्बत में सोचा नहीं करते

वो कहते हैं नज़रों से दूर पर दिल के पास हुँ

हमने कहा सपनो से दिल को बहलाया नहीं करते |

dosti shayari hindi

 तेरे गम को अपनी रूह में उतार लूँ

जिन्दगी तेरी चाहत में सवार लूँ

मुलाकात हो तुझ से कुछ इस तरह

तमाम उमर बस इक मुलाकात में गुजार लूँ |

friendship shayari in hindi

 

 मंजिलों से अपनी दूर ना जाना

रास्ते की परेशानियों से टूट ना जाना

जब भी जरूरत हो जिन्दगी में किसी

अपने की.. हम अपने हैं ये भूल ना जाना |

friendship shayari in hindi

 

 युँही बे सबाब ना फिरा करो, कोई शाम घर भी रहा करो

वो गज़ल की सच्ची किताब है, उसे छुपके-छुपके पड़ा करो

मुझे इश्तिहार सी लगती हैं.. ये महोब्बतों की कहनीयाँ

जो सुना नहीं वो कहा करो.. जो कहा नहीं वो सुना करो.|

 

friendship shayari in hindi

 

क्या नशा है इश्क आज तक समझ ना पाये हम,

उन नशीली आँखों में कहीं हो ना जाऐं गुम,

युँ तो इश्क समझ नहीं आता ना जाने क्या बला थी ये,

कि जुदा होने पे उनकी ये आँखे हो गई है नम |

friendship shayari in hindi

हम दोस्त बनाकर किसी को रुलाते नही

दिल में बसाकर किसी को भुलाते नही

हम तो दोस्त के लिए जान भी दे सकते हैं

पर लोग सोचते हैं की हम दोस्ती निभाते नहीं |

dosti shayari

 

निगाहें बदल गयी अपने और बेगाने की,

तू न छोड़ना दोस्ती का हाथ,

वरना तम्मना मिट जायेगी कभी दोस्त बनाने की |

friendship shayari

वो मुझे चाहे मिल ही जाऐ जरूरी तो नहीं,

ये कुछ कम है कि बसा है मेरी साँसो में,

वो सामने हो मेरी आँखो के जरूरी तो नहीं |

dosti shayari hindi

ये दोस्ती चिराग है जलाऐ रखना ये दोस्ती खुशबु है महकाऐ रखना,

हम रहें हमेशां आपके दिल में, हमेशां इतनी जगह बनाऐ रखना |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here